Aloe Vera Benefits in Hindi ( एलोवेरा के फायदे )

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

आपने कभी-न-कभी एलोवेरा का पौधा देखा ही होगा, तो चलिए आज हम आपको एलोवेरा के कुछ महत्वपूर्ण फायदों के बारे में बताते है। एलोवेरा एक छोटा-सा पौधा होता है जिसके अनगिनत फायदे है। एलोवेरा एक औषधीय पौधे के रूप में जाना जाता है। जिसे आयुर्वेद में धृतकुमारी के रूप में महाराजा का स्थान दिया गया है। एलोवेरा को संजीवनी पौधा भी कहा जाता है। इसमें कई सारे विटामिन होते है जो हमारे शरीर को अनगिनत रोगों से बचाव करते है। एलोवेरा के सारे फायदे एक ही लेख में बताना आसान नहीं है तो चलिए इस लेख में हम आपको एलोवेरा के मुख्य फायदे बताते है।

 

( 1 ) त्वचा के लिए एक वरदान के रूप में:-

आम व्यक्ति एलोवेरा से यही समझता है कि इसे चेहरे पर लगाने से त्वचा साफ होती है, लेकिन एलोवेरा के लाभ त्वचा के लिए इतने मर्यादित नही है। एलोवेरा मे एंटी एजिंग गुण और एंटी ऑक्सीडेंट समाए है जो हमारे चेहरे पर झुरीयां नही पड़ने देते। आज कल के कम उम्र के बच्चों को भी पिंपल जैसी समस्या हो रही है जिसके लिए बच्चे केमिकल युक्त कई फेसवॉश, साबुन, क्रीम्स लगा रहें हैं। केमिकल की वजह से जल्द ही पिंपल चला जाता है और अपना दाग छोड़ जाता है लेकिन एलोवीरा अपना असर धीरे-धीरे करता है और पिंपल ठीक हो जाता है, और कोई दाग भी नही रहता है। चेहरे पर दाग, छाईयां और कील, मुंहासे जैसी सारी समस्याओं से एलोवेरा छुटकारा दिलाता है, उसे हमेशा के लिए जड़ से ठीक करता है। इतना ही नहीं अगर चेहरे के अलावा शरीर के किसी और अंग पर कोई फोड़ा या फुंसी हुई हो या फिर शरीर के कोई अंग की चमड़ी छिल गई हो या फिर कहीं जलन हो रही हो या दाद, खुजली की समस्या हुई हो तो वहां एलोवेरा जेल लगाने से ठीक होता है ये सस्ता और अचूक उपाय है शायद इसी लिए इसे सामान्यतया मिलने वाला संजीवनी पौधा माना गया है।

 

( 2 ) बालों की समस्याओं के लिए जड़ी बूटी समान:-

आज कल बाल झड़ना, टूटना, गिरना, गंजापन, ऑयली स्कैल्प, नए बाल न उगना जैसी बालों की समस्याएं आम है। हर दूसरी महिला को बालों से ले कर कोई न कोई समस्या तो है ही जिसके लिए मार्केट में केमिकल युक्त कई दवाइयां, प्रोडक्ट्स, शैम्पू, तेल, कंडीशनर उपलब्ध है जो तुरंत ही अपना अच्छा असर दिखाते है लेकिन इनके दुर्गामी असर विपरित होते है। ऐसे में एलोवेरा बालों के लिए चमत्कारी जड़ी बूटी का काम करता है यह धीरे धीरे ही अपना असर दिखाता है किंतु ये नियमित रूप से बालों में अंडे या नारियल तेल या फिर किसी और औषधि के साथ लगाने से बाल हमेशा के लिए स्वस्थ होते है। एलोवेरा जेल को शैम्पू की तरह भी इस्तेमाल किया जाता है दही के साथ और अरिठा, शिकाकाई के साथ जिससे बाल सिल्की और स्मूथ होते है बालो में जो धूल मिट्टी होती है वो साफ होते है। सर में जड़ों पर एलोवेरा जेल के मसाज करने से स्कैल्प पर अधिक तेल का जमाव दूर होता है और रक्त संचार ठीक से कार्य करने लगता है, बालों में रक्त का संचरण ठीक से होने लहता है और नए बाल उगने शुरू हो जातें है। एलोवेरा में समाए हुए कई सारे विटामिन जैसे की विटमिन A, विटामिन सी और विटामिन E बालों में नमी बनाए रखने का कार्य करते है। एलोवेरा में रहे B12 व फोलिक एसिड बालों को टूटने, झड़ने व गिरने से रोकता है ऐसे बाल जल्दी नही झड़ते। गंजे लोगों को बालों की वजह से कई सामाजिक परेशानियां झेलनी पड़ती है उनके लिए एलोवेरा एक वरदान है, गंजापन दूर करने के लिए सर में एलोवेरा जेल के साथ बादाम और नारियल का तेल साथ ही प्याज का रस पानी निकल कर सब मिला के लगाने से नए बाल उगने लगते है।

 

( 3 ) अन्य शारीरिक समस्याओं की दवाई के रूप में एक औषधी:-

एलोवेरा के सामान्य लाभ बाल और त्वचा को लेकर सभी जानते है, लेकिन एलोवेरा को संजीवनी पौधा यूं ही नहीं कहा जाता इसके अन्य कई लाभ हैं। एलोवेरा को आंखो पर लगाने से आंख की  समस्या दूर होती है आंखो की रौशनी बढ़ती है। एलोवेरा जूस पीने से पेट की कई समस्याएं दूर होती है क्योंकि इसे एक ठंडाई के रूप में पिया जाता है ये पेट को ठंडा रखता है, इससे कब्ज ठीक होती है गैस की समस्या नहीं होती, पेट में या शरीर में कहीं भी गांठ नही होती। एलोवेरा का जूस ठंडा होता है इस लिए ये पाचनतंत्र पर भी अच्छा प्रभाव करता है, जिससे पेट की समस्याओं का निदान होता है पेट ठीक रहने से व्यक्ति की टॉक्सिकों की समस्या दूर होती है सर का दर्द नही होता। कान में दर्द हो तो एलोवेरा के रस को एक दो बूंद डालने से कान का दर्द ठीक होता है। लीवर के फंक्शन सही से काम करने लगते है। मूत्राशय की समस्याएं दूर होती है। जैसा कि बताया ही गया है कि पेट की तकलीफें दूर होती है इस लिए इससे स्त्रियों की मासिक धर्म की समस्या दूर होती है, PCOD का निदान होता है। लिंग के छाले पर एलोवेरा जेल लगाने से इसे ठीक किया जा सकता है। किसी भी चर्म रोग के लिए एलोवेरा बेहद लाभकारी औषधि है। कितने ही लोगों को खूनी बवासीर की समस्या होती है जिसमे उन्हे बोहोत दर्द और कमजोरी होती है, ऐलोवेरा जूस पीने से राहत मिलती है, पेट ठंडा रहने से पेट में कब्ज नहीं होती और बवासीर बिना ऑपरेशन के ही ठीक होता है। गठिया जैसे गंभीर रोगों को भी बिना किसी विदेशी दवाई के एलोवेरा के इस्तेमाल से ठीक किया जा सकता है। आज कल तो कम उम्र में ही लोग कमर दर्द से जूझने लगते है, लेकिन एलोवेरा का जूस रोजाना सही मात्रा में पीने से कमर दर्द की तकलीफ दूर होती है।

 

कहते है की,

 

   “अति सर्वत्रे वर्जयते।”

 

कुछ भी हद से ज्यादा अच्छा नहीं होता। एलोवेरा का जेल या जूस भी अधिक मात्रा में लेने से कमजोरी हो सकती है इसका लीवर पर बुरा असर पड़ता है, इस लिए इसे नियमित रूप से सही मात्रा में सही चीजों के साथ इस्तेमाल करने से कोई समस्या नहीं होती और व्यक्ति लंबे समय तक युवा रहता है।

Leave a Comment