बिल्डिंग मटेरियल का बिजनेस कैसे करें | Building Material Business Plan in Hindi

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

एक ऐसा बिजनेस है, जिसमे पैसे कमाने की अपार संभावनाएं हैं क्योंकि खाने के लिए रोटी, पहनने के लिए कपड़ा और रहने के लिए घर की जरूरत तो सभी को होती है । गाँव हो या शहर हर जगह नए-नए मकान और बड़ी-बड़ी बिल्डिंग्स बन रही हैं। बिल्डिंग मटेरियल का बिजनेस एक सदाबहार बिजनेस है जो सालोंसाल चलता रहता है। बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन में बहुत सारी चीजों का उपयोग किया जाता है जिसे मकान या बिल्डिंग बनाने में प्रयोग मे लाया  जाता है।

यदि आप बिल्डिंग मेटेरियल सप्लायर बिज़नेस काम शुरू करना चाहते हैं तो इसके बारे में आपको अच्छी जानकारी जरूर  होनी चाहिए ।

 

बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस क्या होता है  

जिस दुकान के द्वारा बिल्डिंग या मकान के कंस्ट्रक्शन के समय विभिन्न प्रकार के जो मटेरियल दिए जाते हैं, उसे बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस कहा जाता है। बिल्डिंग बनवाते समय जो-जो सामान इस्तेमाल में लाये जाते हैं उसे मकान बनवाने वाला बिल्डिंग मेटेरियल शॉप से खरीद कर लाता है । कुछ दुकान ऐसे होते हैं जो केवल सरिया सीमेंट को उपलब्ध करवाते हैं लेकिन कुछ दूकानदार ऐसे होते हैं जो बिल्डिंग से सम्बंधित सभी मटेरियल को रखते हैं ।

 

बिल्डिंग मटेरियल बिज़नस के लिए लोकेशन

बिल्डिंग मेटेरियल बिजनेस  के लिए अच्छी लोकेशन का होना बहुत ही जरूरी है,  जिसमें की आपकी दुकान ऐसी जगह होनी चाहिए जहाँ पर ट्रक और ट्रेक्टर ट्राली आने जाने के लिए  सुविधा जरूर उपलब्ध हो एवं ऐसी जगह हो जहाँ पर की लोग हर तरफ से आआपके दुकान आयें।

 

बिल्डिंग मटेरियल रखने के लिए  जगह

अगर आप बिल्डिंग मेटेरियल बिजनेस  शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए कम से कम 5000 स्कवायर फीट से 10000 स्कवायर फीट की जगह होनी चाहिए, ताकि बिल्डिंग मटेरियल से सम्बंधित सभी सामान आ जाये।

बिल्डिंग मटेरियल से सम्बंधित बहुत से ऐसे सामान होते हैं जिसे की  आपको ग्राहक को दिखाने के लिए सैंपल के रूप में रखना होगा .इसके लिए बड़ा सा रैक बनवाना पड़ेगा ताकि ग्राहक  को सभी जरूरी चीजें आसानी से दिखे।

बिल्डिंग मटेरियल से सम्बंधित कुछ सामान ऐसे होते हैं जिसे रखने के लिए बड़ी जगह चाहिए होती है, जिन्हें आपको गोडाउन में रखन पड़ेगा जैसे सरिया, सीमेंट आदि जिसे पानी से बचाव करे नहीं तो आपका सामान खराब हो सकता है।

 

दुकान में रखने हेतु मटेरियल

बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन में use होने वाले  मटेरियल  जैसे गिट्टी , सरिया , सीमेंट , बालू , होलफांस , हुक , रिंग , प्लाई , सीढ़ी , बल्ली , ईंट , तार , कील , पानी की टंकी , glass , फोम , plastic , टाइल्स इत्यादी , और भी बहुत सारे सामान होते हैं ।

 

बिल्डिंग मटेरियल कहाँ से खरीदें

बिल्डिंग मटेरियल आपको अलग अलग बिल्डिंग मेटेरियल सप्लायर्स से खरीदने पड़ेंगे.  आप अपने नजदीकी शहर में जाकर पता लगा लगाए और सारे  बिल्डिंग कंपनियों से  संपर्क करें , पता करे की कौन सी कंपनी सबसे सस्ता माल दे रही है. जिस कंपनी मे आपको सस्ता माल मिले तो वहीं से माल खरीदें ।

 

Building Material Business में ग्राहक कैसे बनायें

कुछ तो  बिल्डिंग मटेरियल बिज़नेस  मैन ऐसे होते हैं जो दुकान शुरू करते ही अधिक मुनाफा कमाने के चक्कर में रहते है, क्योंकि  इस बिजनेस में  पैसा अधिक लग जाता है तो  आपको  शुरुआत में ग्राहक को महंगा सामान न दें।

बिजनेस के प्रारंभ  में सभी सेम दुकान वालोंसे कम रेट में माल देने की कोशिश करें  अगर आप ऐसा करते हैं तो आपका माल अधिक बिकेगा होगा और जब आपकी बिक्री बढ़ेगी तो स्वाभाविक सी बात है कि आपका मुनाफा भी बढेगा।

 

बिज़नस की  strategy

ट्रांसपोर्ट का प्रबंध आपने देखा होगा कि कांस्ट्रक्शं मेटेरियल सप्लाई इंडिया में में बहुत तेजी से हो रहा है, कंपनी से माल को मंगवाने के लिए आपको ट्रक या ट्रेक्टर इस्तेमाल करना होगा जिसमे आपका खर्च अधिक होगालेकिन  कंपनी से माल मंगवाने और माल को ग्राहक के घर तक भेजने के लिए आप ट्रांसपोर्ट कंपनियों से कांटेक्ट कर सकते हैं तो इसमें आपका खर्चा कम  पडेगा।

 

बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस के लिए आवश्यक लाइसेंस

  • GST Registration
  • Udyog Aadhar Registration
  • Trade licensce

 

बिल्डिंग मटेरियल की मार्केटिंग

कांस्ट्रक्शं बिज़नेस  से रिलेटेड बिजनेस है इसलिए बिल्डिंग मटेरियल की मार्केटिंग के लिए आपको एड्स देने पड़ेंगे, इसके लिए आप चाहे तो  पेपर में छपवा सकते हैं या अपनी दुकान के सामने एक बड़ा सा बैनर लगवाएं और उसमें जानकारी दे की हमारे यहाँ कौन-कौन सा सामन मिलता है। हो सके तो साथ ही अपनी दुकान का विजिटिंग कार्ड  रखें, जो ग्राहक आये उसे अपनी दुकान का विजिटिंग कार्ड जरूर दें। इससे ये होगा कि जब आपके ग्राहक को किसी प्रोडक्ट की जरुरत होगी तो आपसे विजिटिंग कार्ड पर लिखे गए नंबर पर फ़ोन करके जानकारी ले पाएगा ।

इसके आलावा  आप मार्किट, चौक चौराहों, गाँव आदि जगह पर पंपलेट और होर्डिंग्स लगवा सकते हैं । आपको साथ ही कस्टमर का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के लिए समय-समय पर ऑफर देते रहना चाहिए होगा , जिससे की आपसे ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ सकें । आजकल इंटरनेट का समय है तो आप सोशल मीडिया के थ्रू अपने दुकान का प्रचार भी कर सकते हैं।

किसी भी ग्राहक को वापस न भेजें चाहे उसमे आपको बहुत ही कम मार्जिन क्यो न  मिले ऐसा करने से एक ग्राहक दूसरे ग्राहक को बताएगा तो, जिससे की  आपकी बिक्री और अधिक होगी।

बिल्डिंग मटेरियल के बिजनेस को शुरू करने से पहले इस बात ख्याल रखे की की आपको ग्राहक के घर तक भी माल भिजवाना पड़ सकता है ,तो ऐसे में आप ट्रेक्टर-ट्राली की व्यवस्था जरूर  रखें, जिससे ग्राहक को सामान ले जाने में सुविधा हो।

 

बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस में लागत

सबसे आपको ये देखना होगा की आप किस पैमाने पर बिल्डिंग मटेरियल के बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं। अगर आप छोटे स्तर का बिल्डिंग मटेरियल के बिजनेस को शूरू करना चाहते हैं तो आपको लगभग 10 से 15 लाख रूपये का इंवेस्ट् करना पड़ सकता है  लेकिन अगर आप चाहते हैं की शॉप से कोई भी कस्टमर वापस लौट कर न जाये तो इसके लिए बड़े पैमाने पर बिल्डिंग मटेरियल के बिजनेस को शुरू करना पड़ेगा  जिसके लिए आपको  लगभग 50 से 60 लाख रूपये की जरुरत होगी।

 

बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस में लाभ

बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस एक बहुत ही फायदेमंद बिजनेस है, सबसे अच्छी बात इस बिजनेस की ये है कि आपको इसमें किसी भी चीज का manufacturing नहीं करना पड़ता है और न ही आपको कहीं इसे बेंचने जाना पड़ता है. यदि आप इस बिजनेस को 10 से 15 लाख तक लगाकर शुरू करते हैं तो आप हर महीने का 25 से 40 हजार तक कमा लेंगे।

इस बिजनेस में कोई फिक्स रेट नहीं होता है कभी-कभी गिट्टी,बालू,सीमेंट,रेत,सरिया का रेट घटता बढ़ता रहता है। यदि आपने पहले से स्टॉक बनाकर रखा और इस सब चीजों का रेट बढ़ा तो आप बढ़ी हुई कीमत पर भी बेंच कर और अधिक मुनाफा कमा सकते हैं।

Leave a Comment