कैसे शुरू करे दोना पत्तल का बिजनेस?। Dona Pattal Business in Hindi

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

यदि कोई भी व्यक्ति व्यवसाय करने में दिलचस्पी रखता है,आज हम जानेंगे की कितनी पूंजी और किस समय आपको दोना पत्तल का व्यवसाय आरंभ करना चाहिए और आप इस व्यवसाय में कितने प्रतिशत मुनाफा कमा कर जल्द ही धन अर्जित कर सकें।

 

क्या है दोना पत्तल

आपने अक्सर शादी पार्टी या किसी फंक्शन में दोना पत्तल में खाना खाया होगा, कि आखिरकार वे दोना पत्तल होते क्या है और बनते कैसे हैं? हालाँकि दोना पत्तल विभिन्न प्रकार के पाए जाते हैं,  जैसे की कुछ दोना पत्तल प्लास्टिक का बना होता है जिसे  डिस्पोजल भी कहे जाते हैं, तो ऐसे होते हैं, जो की थर्माकोल से बने होते हैं, और कुछ तो प्लास्टिक से भी बनाए जाते हैं। जबकी पुराने समय में दोना पत्तल मुख्य रूप से इन पत्तों से बनाए जाते थे एवं उपयोग में लाए जाते थे ।

अब से कुछ वर्ष पूर्व या कहें आज भी कुछ जगहों पर सरगी झाड़ के पत्तों और केले के पेड़ के पत्तों को तोड़कर और उन्हें छांट कर पत्तल दोने बनाए जाते हैं, इसका  उपयोग करना बहुत ही सरल एवं उसे नष्ट करना भी बेहद आसान है।

 

दोना पत्तल व्यवसाय का रजिस्ट्रेशन

बिज़नेस चाहे कोई भी हो यदि उसका कानूनी तौर पर रजिस्ट्रेशन हो जाता है, तो कभी इन फ्यूचर किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है ,ये एक छोटा व्यापार है लेकिन बिना रजिस्ट्रेशन के आपको ये  बिज़नेस मुश्किल कर सकता  है।

बिजनेस के लिए नाम तो होना चाहिए जिस नाम से वो जाना जाएगा, एक ऐसा नाम जो सबसे अलग हो और किसी भी व्यवसाय से मिलता-जुलता ना हो।

अब आपको इस कार्य के लिए अनुभवी कारीगरों आवश्यकता होगी, जिसे की पहले से दोना पत्तल बनाना आता हो या फिर उन्हें सिखा कर अपने काम में अपने साथ उन्हें लगाकर अपना व्यवसाय आरंभ किया जा सकता है।

 

दोना पत्तल व्यवसाय के लिए सही जगह

दोना पत्तल की फैक्ट्री लगाने के लिए आपको एक ऐसी जगह देखना चाहिए, इस व्यवसाय की जगह खुली होनी चाहिए, ताकि वहां पर माल लाने और ले जाने के लिए साधन आसानी से आवागमन कर सकें, तो वहां पर कोई भी सप्लायर आसानी से पहुंच सके, और  आप बहुत कम समय में अधिक मुनाफा इस बिज़नेस में कमा सकते हैं।

 

दोना पत्तल बिज़नस के लिए मार्केट पोटेंशियल

अब के समय में सर्वाधिक इस्तेमाल थर्माकोल और प्लास्टिक से बने दोना पत्तल बढ़ गया है , लेकिन जो बिल्कुल भी सही नहीं है, क्योंकि ये प्लास्टिक और थर्माकोल दोनों ही हमारी प्रकृति के लिए हानिकारक है। अब दोना पत्तलों का इस्तेमाल हर जगह किया जाने लगा है, जैसे रेलवे, होटल, रेस्टोरेंट, ढाबा या फिर कोई भी पब्लिक जगह हो। ऐसे में पत्तियों और कागज से बने दोना पत्तलों के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा सकता है। जबकि  यदि पेड़ के पत्तों से बने हुए दोना पत्तल अधिक मात्रा में निर्मित किए जाएंगे, तो उनका उपयोग भी अधिक मात्रा में किया जाएगा, जो हमारे पर्यावरण के लिए बिल्कुल भी हानिकारक चीज नहीं है।इसे इस्तेमाल करने के बाद इसे आसानी से ख़तम भी किया जा सकता है। तो इसलिए बाजार की स्थिति के अनुसार देखा जाए, जो की आज के समय की बहुत बड़ी जरूरत और सरलता वाला व्यवसाय पत्तों से बना दोना पत्तल का व्यवसाय है।

 

दोना पत्तल के लिए  कच्चा माल

इन पत्तों से दोना पत्तल बनाने के लिए ज्यादा कच्चे माल की जरूरत  नहीं पड़ती है।जो कि एक छोटी सी किसी जगह पर भी मशीन लगाकर यह बिज़नेस को शुरू कर सकते है।

इन पत्तों से बने पत्तलों के लिए सबसे पहले आवश्यक चीज पेड़ और उसके पत्ते होते हैं। जिनमें की प्रमुख्य रूप से केले के पेड़ के पत्ते उपयोग में लाए जाते हैं। तो आपको केले के पेड़ के पत्ते या फिर किसी ऐसे पेड़ के पत्ते जो आकार में थोड़े बड़े हो, उसकी जरुरत पड़ेगी।

दोना पत्तल बिज़नेस को आरंभ करने के लिए आवश्यक मशीनरी

इस बिजनेस को बिना मशीनों के भी किया जा सकता हैं, लेकिन मशीन के माध्यम से इस बिजनेस को करना बेहद आसान है, और अब इसके लिए सबसे पहले तो आप को एक सिंगल डाई मशीन चाहिए , जो कि हैंड प्रेस होगा ।

जिसके बाद एक थोड़ी सी बड़ी मशीन आती है, जिसे हैंड प्रेस डबल डाई मशीन कहते हैं, उसमें दो प्रकार की डाई का इस्तेमाल किया जाता है। जो दोना पत्तल को सही आकार देती है। एक ऑटोमेटिक कप मशीन भी लगाई जाती है, जिसकी आवश्यकता दोना पत्तल बनाने के लिए पड़ती है। फिर इन मशीनों में कई प्रकार की डाई व मोड लगाई जाती है, जिनके इस्तेमाल से पत्तों को अलग-अलग आकार में ढाला जाता है।

 

दोना पत्तल बनाने की पूरी प्रक्रिया

इसे  बनाने के लिए सबसे पहले आपको उस पेड़ के पत्ते इकट्ठे करने होंगे जिस पेड़ के पत्ते आकार में बड़े और टिकाऊ है। फिर इसके बाद उन पत्तों को अच्छी तरह से काटकर और छांटकर साफ कर लेना जरूरी है, ताकि मशीन में डालने पर उनमें किसी भी प्रकार की गंदगी या फिर अटकलें ना आने पाए। फिर इसके बाद प्लेट और कटोरी के आकार में उन्हें ढाल दिया जाता है। सबसे जरूरी बात गुणवत्ता की जांच करना अति आवश्यक होता है, ताकि उपभोक्ता इसे इस्तेमाल करते समय किसी भी तरह की कमी ना ढूंढ पाए।

इसकी गुणवत्ता जांचने के बाद एक बढ़िया आकर्षक पैकिंग करना भी आवश्यक है, ताकि उसकी पैकिंग से आकर्षित होकर उपभोक्ता आपके द्वारा बनाये गए उत्पाद को खरीद कर उनका उपयोग करें।

दोना पत्तल बिज़नेस में लगने वाली कीमत

दोनों पत्तलों के व्यवसाय में मशीन का खर्च का अनुमान लगाया जाए, तो अधिकतम 10,000 से लेकर 20000 तक का खर्च करके आप आसानी से दोना पत्तल की फैक्ट्री लगा सकते हैं। जो की आप धीरे-धीरे छोटे पैमाने पर अपना व्यवसाय आरंभ करके आप अपने बिज़नेस  को बड़ा आकार दे सकते हैं, और फिर आप को इसमें रुपये भी कम लगेगी और समय अधिक बर्बाद भी  नहीं होगा।

 

दोना पत्तल कहाँ तक पहुंचा सकते हैं

आप चाहते हैं की माल मार्केट में पहुंचे तो उसके लिए आपको कुछ ऐसे सप्लायर्स की जरुरत होगी, जो आपके बने हुए माल को बड़े एवं नामी बाजार तक पहुंचा सके।  आप चाहे तो स्वयं जाकर अपने आसपास की मार्केट में दुकानदारों से जो दोना पत्तल का व्यवसाय करते हैं और उन्हें रिटेल कीमत पर बेचते हैं, उनसे संपर्क में आ सकते हैं. इनसे इन की आवश्यता पूछ कर आप इनको जरूरत के अनुसार खुद की फैक्ट्री में बनाया हुआ माल अपनी उत्पादित कीमत आप कहीँ भी पर बेच सकते हैं।

 

दोना पत्तल बिज़नस में कम लागत अधिक मुनाफा

ये पेड़ आसानी से लगाए जा सकते हैं , पेड़ के बने पत्तों से दोने पत्तल बनाकर उन्हें बाजार में बेचना कम कीमत पर अधिक मुनाफे को बनाने वाला काम है। माना यह एक बहुत छोटा सा उद्योग है, लेकिन इसे शुरू करने में ना तो ज्यादा समय लगता है और ना ही ज्यादा खर्च परंतु कम समय में ही इस  बिज़नेस के जरिए उचित मुनाफा कमाया जा सकता है।

आप पेड़ से बने पत्तों के दोने पत्तल का व्यवसाय आरंभ कर सकते हैं, जिसके लिए आपको अधिक पूंजी की आवश्यकता बिल्कुल भी नहीं है।

Leave a Comment