जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले? | Footwear Shop Business Plan in Hindi

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

आज के समय में जूते चप्पल का बिजनेस शुरू करने के लिए आप सभी लोगों को मार्केट रिसर्च, व्यवसाय से संबंधित रिस्क माल और उसकी कीमत और इसके साथ ही सेल करने वाले माल को कहां से खरीदे इत्यादि की जानकारी होना बहुत आवश्यक है । दोस्तों इन सभी जानकारियों के साथ आप सभी लोगों को मार्केटिंग प्रोसेस को अधिक डेवलप करना होगा जिससे कि आपके बिजनेस में कोई दिक्कत ना हो साथ ही आपको बेहतर लोकेशन सिलेक्ट करना होगा और लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन भी करना जरूरी होगा आप सभी लोग इन सभी प्रक्रियाओं का पालन करके इस व्यवसाय का शुरुआत कर सकते हैं।

जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले? | Footwear Shop Business Plan in Hindi

फुटवियर बिजनेस के लिए प्रीप्लान

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं किसी व्यवसाय को शुरू करने के लिए सबसे पहले उस व्यवसाय को लेकर एक बेहतर प्लान बनाना होता है ठीक उसी प्रकार यदि आप जूते चप्पल की दुकान शुरू करना चाहते हैं तो आप सभी लोगों को अपना फुटवियर बिजनेस प्लान बनाना होगा। हमारे बिजनेस में हमें कितनी सक्सेस मिल रही है और कितना लॉस हो रहा है यह सब बिजनेस शुरू करने से पहले किए गए प्लान पर ही डिपेंड करता है। यदि आप व्यवसाय से जुड़े प्लांस को किसी जानकार व्यक्ति और ट्रस्टेड व्यक्ति के साथ शेयर करते हैं और उनसे सलाह प्राप्त करके अपना बिजनेस शुरू करते हैं, तो बिजनेस में ग्रोथ आपको अवश्य देखने को मिलेगी।

जूता चप्पल बिजनेस के लिए मार्केट रिसर्च

कौन से क्षेत्र में जूते चप्पल की अधिक दुकाने हैं? कौन से स्थान पर जूते चप्पल का बिजनेस अच्छी तरीके से चल सकता है? किस स्थान पर सप्लायर की सुविधा आसानी से मिल सकेगी? और किस स्थान पर लोगों के आने-जाने के लिए ट्रांसपोर्ट की सुविधा मौजूद होगी इत्यादि बातों के बारे में जानना अति आवश्यक होता है। क्योंकि यह सब मार्केट रिसर्च से जुड़ी बातें बिजनेस को सफल बनाने में सहयोग देती हैं।

सबसे पहले आपको अपने लोकल मार्केट की रिक्वायरमेंट को पता करना होगा। क्योंकि लोगों की जरूरतों पर ही आपके बिजनेस की सफलता निर्भर करता है। इसके साथ ही साथ आपको लोगों के साथ अपना कांटेक्ट भी बढ़ाना होगा और सबसे महत्वपूर्ण आपको यह पता करना है कि मार्केट में कंपटीशन कितना है। इन सभी बातों का आपको विशेष ध्यान देना है ताकि आपके बिजनेस में लॉस के चांसेस ना के बराबर हो।

आप जूते चप्पल का व्यवसाय एक छोटी सी दुकान के माध्यम से शुरू कर सकते हैं। लेकिन आपको इस बात का ध्यान देना आवश्यक है कि आप जिस जगह पर अपनी दुकान खोल रहे हैं, उस जगह पर पहले से दूसरी और कोई दुकान मौजूद ना हो या हो भी तो ज्यादा  मौजूद न हो।

आपको इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए इससे जुड़े हुए इन्वेस्टमेंट के बारे में भी पता करना होगा। कुल मिलाकर आपको इस बिजनेस से जुड़े हुए हर संभव प्रकार की मार्केट रिसर्च करना होगा ताकि आपके बिजनेस में लॉस कि चांसेस ना हो।

जूते चप्पल के व्यवसाय के लिए माल की कीमत और कहां से खरीदें?

जूते चप्पल के व्यवसाय की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि आपके काम करने का तरीका कैसा है? आपके प्रोडक्ट की कीमत कितनी है?, आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी कैसी है? आपके दुकान पर कौन से ब्रांड अवेलेबल हैं? आपके प्रोडक्ट की पैकेजिंग कैसी हैं? आपके प्रोडक्ट की डिज़ाइन कैसी है? इत्यादि।

आप जूते, चप्पल और सैंडल जैसे माल की मदद से बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं। इन सब माल को खरीदने के लिए कम से कम आपको 2 लाख रुपए लगेंगे और यदि आप अपने दुकान के अंतर्गत बेस्ट ब्रांड और बेस्ट क्वालिटी के जूते चप्पल रखते हैं तो आपको दो लाख रुपए से अधिक भी लग सकते हैं। इस बिजनेस में लगने वाली लागत जूते चप्पल की क्वालिटी और ब्रांड पर भी निर्भर करता है।

आज के समय में अधिकतर ऐसे लोग हैं, जो कि अलग-अलग डिजाइन के जूते और चप्पल पहनना पसंद करते हैं। जूते और चप्पल का बिजनेस शुरू करने के लिए माल में सिर्फ जूते और चप्पल की जरूरत पड़ती है। आप इसके साथ-साथ लड़कियों के लिए जूती, सेंडल, डेली यूज़ स्लीपर, हील सैंडल इत्यादि भी रख सकते हैं। इसके साथ ही इस व्यवसाय का प्रॉफिट लोकेशन पर भी निर्भर करता है।

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए मार्केटिंग

किसी भी व्यवसाय को शुरू और सुचारू रूप से चलाने के लिए उसका मार्केटिंग करना बहुत ही आवश्यक हो जाता है। क्योंकि जब तक आप अपने दुकान के बारे में लोगों को नहीं बताएंगे तब तक लोगों को आपके दुकान के बारे में पता नहीं होगा। और जब तक लोगों को आप के बिजनेस के बारे में जानकारी नहीं होगी तब तक आपका व्यवसाय सफल नहीं हो सकता।

आप डिजिटल मार्केटिंग की मदद से वेबसाइट, एप, एवम् अखबार पर अपने बिजनेस का ऐड दे सकते हैं और इस के साथ ही साथ आप अपने दुकान का एड्रेस और कांटेक्ट नंबर देकर भी मार्केटिंग कर सकते हैं। वैसे तो इस तरह के मार्केटिंग प्रोसेस में काफी ज्यादा पैसे खर्च करने की जरूरत पड़ती है। परंतु ऐसा करने से आपके बिजनेस की काफी अच्छी एडवर्टाइजमेंट होती है।

एडवर्टाइजमेंट करने का सबसे सीधा और सरल तरीका होता है ‘माउथ एडवर्टाइजमेंट’। इस मार्केटिंग के अंतर्गत आपको पैसे खर्च करने की जरूरत ही नहीं पड़ती, बस आपको अपने ग्राहक को बेहतर से बेहतर सुविधाएं प्रदान करनी होंगी और आपको अपने ग्राहक को खुश करना होगा। जिससे कि वे घर जाकर अपने परिवार व रिश्तेदारों को आपके बिजनेस के बारे में बताएंगे और इस तरीके में ज्यादा से ज्यादा लोगों को आपके बिजनेस के बारे में जानकारी प्राप्त होगी और इस तरह से आपका बिजनेस सफल हो सकेगा।

जूते चप्पल के बिजनेस में रिस्क

आज के समय में ऐसा कोई भी बिजनेस नहीं है, जिसके अंतर्गत रिस्क ना हो। शुरुआत में सभी बिजनेस में लॉस होने के चांसेस अधिक होते हैं। क्योंकि शुरुआत में आपके व्यवसाय के बारे में ज्यादा लोगों को पता नही होता है। फिर धीरे धीरे आपके व्यवसाय के जमने के बाद आपकी अच्छी कमाई होने लगती है।

Leave a Comment