Fruit Ka Business Kaise Kare – Fruit का व्यापार कैसे शुरू करे

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

फल खाना किसको पसंद नही होता है, हर किसी को अलग अलग फल पसंद होते है, लेकिन ये तय है की सभी को कोई न कोई फल पसंद जरूर है। फल की डिमांड भी मार्केट में बहुत ही ज्यादा हो चुकी है जिसके वजह से इनका प्रोडक्शन बहुत बड़े लेवल पर होने लगा है और इनका बिजनेस भी अच्छे लेवल पर होता है |

Fruit Ka Business Kaise Kare – Fruit का व्यापार कैसे शुरू करे

बहुत से लोग है जो फ्रूट के बिजनेस में लाखो रुपये कमा रहे है। कोई भी आदमी यदि अपना छोटा सा व्यवसाय शुरु करना चाहते है तो आसानी से शुरु कर सकता है और इसके माध्यम से अच्छे पैसे कमा सकते है। आज इस आर्टिकल में हम आपको फलों से जुड़े व्यवसाय के बारे में विस्तार से बतायेंगे | ये भी देखे :- मूंगफली होलसेल बिज़नेस कैसे करे

फ्रूट का बिजनेस क्या है ?

किसी फल को मंडी या फिर किसी बाग से खरीद कर रिटेल पर बेचना फ्रूट बिजनेस कहलाता है। इस बिजनेस के अन्दर ज्यादा इन्वेस्टमेंट की जरुरत भी नही होती है, थोड़े से पैसे के अन्दर यह बिजनेस आसानी से शुरु कर सकते है और अच्छे पैसे कमा सकते है |

फ्रूट बिज़नेस के प्रकार

फ्रूट का बिज़नेस तीन प्रकार से कर सकते है |

  1. फ्रूट का बाग :- यदि आपके पास अच्छी पानी वाली जमीन है तो किसी भी फल का बाग लगा सकते है इसके अन्दर अच्छी जमीन की जरुरत पड़ती है और इन्वेस्टमेंट की जरूरत तो होगी है |
  2. Fruit शॉप बिजनेस :- किसी फ्रूट मंडी या फिर बागो से खरीद कर रिटेल को बेचना फ्रूट शॉप बिजनेस कहलाता है |
  3. फ्रूट जूस बिजनेस :- इस बिजनेस के अन्दर एक अच्छी सी शॉप बनाकर जूस कार्नर का बिजनेस कर सकते है |

 

Fruit Wholesale Business के लिए जरूरी चीजे

इस Business को शुरु करने के लिए बहुत सी चीजो को जरुरत पड़ती है  लेकिन चीज की जरुरत Business  के आकार पर निर्भर करती है क्योकि ये बिज़नेस घर से शुरु करते है तो ज्यादा चीजो की जरुरत नही पड़ती है और बिज़नेस बड़े लेवल पर शुरु करते है तो बहुत सी Requirements होती है | Fruit  Ka Business Hindi

  • इन्वेस्टमेंट (Investment)
  • शॉप और गोडाउन
  • बिजली, पानी की सुविधा (Electricity, water facilities)
  • साधन

 

फ्रूट के बिज़नेस के लिए इन्वेस्टमेंट

इस बिज़नेस के अन्दर निवेश इस Business और जमीन के ऊपर निर्भर करता है क्योकि यदि बड़ा Business शुरु करते है तो ज्यादा इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है और छोटा बिज़नेस घर से शुरु करते है (falo  ka Business hindi ) तो उसके अन्दर कम इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है (Fruit   Business hindi )और खुद की जमीन है तो कम पैसो में काम चल सकता है और यदि जमीन किराये पर लेते है या खरीदते है तो उसके अन्दर ज्यादा इन्वेस्टमेंट  (Investment)करनी पड़ती है |online Fruit  business plan

  • दुकान का किराया और पगड़ी :- लगभग 50,000 Rs. 1 Lakh
  • भाड़ा या खुदकी गाड़ी :- लगभग Rs. 2 Lakhs To Rs. 3 Lakhs
  • पूरा इन्वेस्टमेंट :- लगभग Rs. 50,000 To Rs. 1 लाख (यदि खुद की दुकान और साधन उपलब्ध है )

 

फ्रूट कंहा से खरीदे ?

फ्रूट का व्यापार शुरू करने के लिए सबसे पहले आपके पास फ्रूट का  होना आवश्यक है जिसके लिए आप या तो अपने खेतों में उगा सकते है और यदि आपके पास खेती के लिए जगह नही है तो आप फ्रूट को किसानों से थोक दर में भी खरीद सकते है इसके लिए अपने अगल बगल के सब्जी मंडी से कांटेक्ट करे, वंहा आपको सस्ते रेट पर फ्रूट मिल जायेगे। फलों का देखभाल करना काफी आवश्यक होता है, क्योंकि कभी ऐसा वक्त आता है जब फलों की बिक्री कम होती है । यही कारण है कि आपको फल सुरक्षित रखने के लिए एक गोदाम ही तैयार करना होता है, और स्टोरेज की व्यवस्था करनी होगी |

 

भारत में फलों की खेती

अनन्नास :- भारत में असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश, केरल और कर्नाटक आदि राज्यों में मुख्य रूप से अनन्नास का उत्पादन होता है।

सेब :- भारत में सेब का उत्पादन छोटे-स्तर पर नीलगिरि में होता है, और बड़े स्तर पर जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश में होता है।

खजूर :- खजूर का उत्पादन अधिकतर सूखे जगह और मरुस्थलीय एरिया में होता है |

केला :- पश्चिम बंगाल में चम्पा और अमृतसागर केले, ओडीशा और असम में चम्पा केले, महाराष्ट्र में सफेद वेल्ची, लाल वेल्ची और राजेली केले उपजाए जाते हैं।

आम :- आध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, केरल, हिमाचल प्रदेश, गुजरात और पश्चिम बंगाल अन्य आम उत्पादक राज्य हैं

अंगूर :- हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश,कर्नाटक, महाराष्ट्र और तमिलनाडु राज्यों में मुख्य रूप से अंगूर का उत्पादन होता है।

 

फ्रूट का बिज़नेस के अन्दर प्रॉफिट

इस बिज़नेस के अन्दर 30 % से 40% से ज्यादा प्रॉफिट मार्जिन मिलता है तो इस हिसाब से इस बिज़नेस के अन्दर अच्छे पैसे कमा सकते है यदि आपको सस्ते और अच्छे रेट पर सभी आवश्यक सामान मिल जाता है और अच्छे पैसे कमा सकते है । किसानो से सस्ते रेट में Fruit  खरीद कर उनकी सफाई करके प्रतिकिलो के हिसाब से 30 से 40 रुपये कमा सकते है |

 

फ्रूट के बिजनेस की मार्केटिंग

किसी भी Business के लिए मार्केटिंग की भी जरूरत होती है फ्रूट्स की मार्केटिंग के लिए सबसे अच्छा तरीका है पब्लिसिटी के लिए अपने लोकल सगे संबंधियों को सहयता लें, पेपर में एड दें, कलर पेपर पर बढ़िया सा पम्पलेट छपवाकर शहर में बटवा भी सकते हैं। ऐसे बहुत से तरीके है जिस से मार्केटिंग कर सकते है शॉप के बाहर सेल्स मैन भी रख सकते है।

ल पसंद होते है, लेकिन ये तय है की सभी को कोई न कोई फल पसंद जरूर है। फल की डिमांड भी मार्केट में बहुत ही ज्यादा हो चुकी है जिसके वजह से इनका प्रोडक्शन बहुत बड़े लेवल पर होने लगा है और इनका बिजनेस भी अच्छे लेवल पर होता है |

बहुत से लोग है जो फ्रूट के बिजनेस में लाखो रुपये कमा रहे है। कोई भी आदमी यदि अपना छोटा सा व्यवसाय शुरु करना चाहते है तो आसानी से शुरु कर सकता है और इसके माध्यम से अच्छे पैसे कमा सकते है। आज इस आर्टिकल में हम आपको फलों से जुड़े व्यवसाय के बारे में विस्तार से बतायेंगे | ये भी देखे :- मूंगफली होलसेल बिज़नेस कैसे करे

Leave a Comment