Herbalife Company क्या है | Herbalife Business Plan In Hindi

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

हर्बल लाइफ एक अंतराष्ट्रीय कंपनी है, जो वजन कम करने के साथ हेल्थ, स्किन और हेयर केअर प्रॉडक्ट बनाती है। हर्बल लाइफ लोगो को डिस्टीब्यूटर की तरह जुड़ने का मौका भी देती है, जिससे प्रोडक्ट की बिक्री पर मुनाफा देती है।

यानि हर्बल लाइफ नेटवर्क मार्केटिंग का सहारा लेती है, अपने उत्पाद की बिक्री के लिए। जो लोग Herbal life से जुडते है, उन्हें एसोसिएट कहा जाता है।

मार्क रेनॉल्ड्स ह्यूज जो हरबालाइफ के संस्थापक है,1970 के दशक में सिर्फ 18 साल की उम्र में अपनी माँ को खो बैठे थे। Mark Reynolds की मां Los Angles में एक पार्ट टाइम मॉडल थी। जिसके चलते मार्क की मां जो एन्न को अपना वजन काबू करने की जरुरत होती थी

उस समय वजन को सामान्य रखने के लिए इतने अच्छे डाइट प्लान नहीं थे। उस समय लोग वजन काबू करने के लिये सिर्फ पिल्स  लिया करते थे, उससे फायदा कम और साइड इफ़ेक्ट ज्यादा होते थे।

जो एन्न भी इन पिल्स का सेवन करती थी, परन्तु ओवरडोज़ के कारण इन पिल्स के कारण उनकी मौत हो गयी और 18 साल की उम्र में मार्क को अपनी माँ को खोना पड़ा। जिससे एक गहरा सदमा मार्क को लगा और मार्क ने फिर वजन मैनेज करने के लिए नई-नई रेमेडी की ख़ोज करना शुरू कर दिया।

इसके चलते मार्क ने चीन की तरफ रुख किया और वहाँ अपनी खोज शुरू की। चीन के हर्ब का इस्तमाल से मार्क शरीर के सभी ज़रूरी तत्व की पूर्ति करने में सक्षम थे और उन हर्ब से व्यर्थ चर्बी का निवारण भी हो जाता था। इन हर्ब को मार्क ने “ Formula 1 ” कहा।

Herbalife Company क्या है | Herbalife Business Plan In Hindi

हर्बालाइफ कब शुरू हुई

हर्बालाइफ की शुरुआत फरवरी 1980, Los Angeles, California, United States में हुई थी।

चीन के हर्ब से बने “ Formula 11” प्रॉडक्ट से हर्बल लाइफ  कंपनी की शुरुवात हुई। कंपनी की पहली उपभोक्ता खुद मार्क की दादी थी, जिससे कुछ ही महीने में उनका 9 किलो वजन बिना किसी साइड-इफ़ेक्ट के ही  कम हो गया।

जिससे मार्क की कंपनी हर्बल लाइफ  को एक बड़ी पहचान मिलना शुरू हुआ और पहले ही महीने में formula 1 की बिक्री से मार्क ने 23,000$ का बिजनेस किया। 23 साल की उम्र में मार्क ने हर्बल लाइफ से 2 मिलियन अमिरिकी डॉलर यानी की 12 करोड़ रुपए का कारोबार किया।

हर्बल लाइफ  1980-2020

1986 में हर्बल लाइफ पब्लिक हुई और खुद को NASDAQ स्टॉक मार्केट में रजिस्टर किया। इसी बीच हर्बल लाइफ सारे महाद्वीप में पहुँच गयी और खुदका के बिज़नेस को कई गुणा बड़ा दिया। लेकिन जिस प्रकार हर्बल लाइफ के साथ स्टॉक मार्केट में व्यवहार किया गया, उससे संस्थापक मार्क खुश नहीं थे। इसलिए नब्बे की दशक में उन्होने हर्बल लाइफ को वापस प्राइवेट करने का सोचा, पर कंपनी को कम मूल्यांकन मिल रहा था ,जिससे की  मार्क तनाव में रहने लगें।

सन 2000 में 44 वर्ष की उम्र में अत्यधिक शराब और एंटी-डिप्रेसेंट दवाई लेने के कारण उनकी मौत हो गयी। फिर 2002 में एक कंपनी  के अंतरगर्त हर्बल लाइफ  ने खुदकों प्राइवेट कर दिया। लेकिन 2004 में हर्बल लाइफ  वापस स्टॉक मार्केट में आती है और इस बार वह न्यू यॉर्क स्टॉक एक्स्चेंज में आई और अभी भी मौजूद है। पर सबसे बड़ी समस्या 2014 में आती है, जो इल्जाम Federal Trade Commission ने Amway पर लगाए थे, वैसे ही Herbalife पर भी पिरामिड स्कीम चलाने और गलत बिजनेस करने के मामले में FTC ने पकड़ा।

2016 में मामला खत्म होता है और हर्बल लाइफ  को $200 मिलियन का जुर्माना भरना पड़ा। इस जुर्माने का उपयोग FTC ने लाखों Associate को रिफ़ंड देने के लिए किया। 2019 में Herbalife के 2 कर्मचारी  को चीन में कंपनी के प्रॉडक्ट बिक्री, बिजनेस बढ़ावे के पर्मिट और मीडिया के माध्यम से लोगों को प्रभावित करने के लिए भष्टाचार करते पकड़ा गया है।

हर्बल लाइफ अंत में अपनी गलती मानी है और कंपनी पर कुल $123 मिलियन यानि 900 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। कुल 38 सालो में हर्बल लाइफ पूरी तरह से बदल चुकी है। फार्मूला 1 से लेकर आज हर्बल लाइफ के हर्बल शेक, टी और स्किन एवं हेयर केअर के बहुत से प्रॉडक्ट पूरी दुनिया में बेचे जाते है। Herbalife भारत को मिलाकर 90 से ज्यादा देशो में जानी-मानी कंपनी है।

 

When did herbalife start in india

1998 में Herbalife International India Private Limited MCA के अंतरगर्त रजिस्टर हुई और भारत में चल रही है। इसका भारत हैडऑफिस बेंगलुरु में है, अभी के समय में अजय खन्ना और मार्क डेविड स्टोरी भारत डायरेक्टर है।

Herbal life बड़े खिलाड़ी और एथेलेट को स्पोंसर करती आई है, जिसमें क्रिस्टियानो रोनाल्डो और भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली भी शामिल है।

स्पोर्ट स्पोनरशिप

हर्बल लाइफ दुनिया भर में कई एथलीट, खेल टीमों और खेल कार्यक्रमों को प्रायोजित करती है, जिसमें शामिल है

सेर्गेई कोन्युशोक (ताकतवर व्यक्ति प्रतियोगिता में 7 गिनीज रिकॉर्ड तोड़े)

एलए ट्रैथलन

AYSO (द अमेरिकन यूथ सॉसर और्गनाइज़ेशन

एलए गैलेक्सी फुटबॉल टीम

वालेंसिया CF फुटबॉल क्लब

मैक्सिको से पुमास

मेक्सिको के क्लब सैन लुईस

सैंटोस FC, आधिकारिक पोषण सलाहकार

एफसी बार्सिलोना, आधिकारिक प्रायोजक

सीए लानुस, आधिकारिक प्रायोजक

लियोनेल मेस्सी

एमसी मैरीकाम

क्लब मकाबी हाइफ़ा, इजरायल फुटबॉल क्लब

How to do business with herbalife? (हर्बलाइफ के साथ बिजनेस कैसे करें?)

Herbalife से कोई भी व्यक्ति जुड़ सकता है और उसे Herbalife Associate कहा जाता है।

हर्बल लाइफ इतने सारे देशो में फैलाना डायरेक्ट सेलिंग और डिस्ट्रीब्यूटर की निभाई भूमिका के बिना नामुंकीन होता। क्योंकि Herbalife को लोगो द्वारा की गयी नेटवर्क मार्केटिंग का बहुत ज्यादा फायदा होता है।

Herbal life से कैसे जुड़े

हर्बल लाइफ  से जुडने के लिए हरबालाइफ के किसी भी एसोसिएट  से संपर्क करें और उन्हें आपकी ID लगाने को कहे। यहाँ ध्यान देना होगा की आप अपनी अपलाइन सोच समझकर ही चुने।

जुडने के लिए आपको अपने कुछ डॉक्यूमेंट देने होंगे, जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड और बैंक खाते की जानकारी।इसके बाद आपको हर्बल लाइफ से कुछ प्रॉडक्ट खरीदने होंगे और उसके अनुसार आपको एक लेवल मिलता है और मिलने वाला रीटेल प्रॉफ़िट भी तय किया जाता है।

हर्बल लाइफ से इनकम

चाहे तो आप हर्बल लाइफ के प्रॉडक्ट को MRP पर बेचकर निश्चित पैसा कमा सकते है। क्योंकि एसोसिएट बनने के बाद कंपनी आपको प्रॉडक्ट कुछ कम कीमत में देगी और उससे आपको रीटेल प्रॉफ़िट होगा। दूसरा तरीका जो ज्यादा कमाई का तरीका है, वो है रिक्रूटमेंट, यानि लोगों को जोड़ना।

इससे उनकी प्रॉडक्ट बिक्री पर कुछ प्रतिशत मुनाफा आपको भी मिलेगा।

हर्बल लाइफ प्रॉडक्ट्स

किसी भी MLM कंपनी में प्रॉडक्ट सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होते है। Herbalife Products List अपने प्रतियोगी FLP, Amway, Vestige की तुलना में काफी छोटी है और कम प्रॉडक्ट रखती है।

हर्बल लाइफ  एक प्रॉडक्ट आधारित MLM कंपनी है, जिसका MLM में आने का मकसद सिर्फ प्रॉडक्ट बिक्री बढ़ाना था।

कई लोगों ने शिकायत हर्बल लाइफ प्रॉडक्ट के खिलाफ की है, जिसमें पेट दर्द होना सबसे समान्य शिकायत है। रिसर्च कहती है, कि हर्बल लाइफ प्रॉडक्ट से लिवर पर गलत प्रभाव होता है। इससे दुर्बल लोगों में जान तक का भी खतरा होता है।

अगर हम इसके वजन घटाने के प्रोग्राम की बात करें, तो इसमें हमें अपना डाइट बदलकर हर्बल लाइफ प्रॉडक्ट पर पूरी तरह निभार होना पड़ता है। पर जो शेक और अन्य उत्पाद है, वो बहुत ज्यादा संसाधित है, जो हर किसी के लिए उचित नहीं है।

एक बार हम हर्बल लाइफ प्रॉडक्ट के साइड एफ़ेक्ट्स को नज़रअंदाज़ कर सकते है, क्योंकि कुछ सप्लिमेंट से कुछ लोगों पर गलत प्रभाव हो सकता है, लेकिन जो प्रॉडक्ट कीमत अंतिम उपभोक्ता को चुकानी पड़ती है, वो बहुत ज्यादा है। जो अधिकतर भारतीय के बस में नहीं है।

मान लीजिये एक बार हर्बल लाइफ प्रॉडक्ट खरीद भी लेते है और वजन कम हो भी गया है। पर क्या यह मुमकिन है, कि इन प्रॉडक्ट को हमेशा जारी ही रखें, क्यूंकी वजम कम करना और बाद में कम बनाए रखना भी मुश्किल और जरूरी है। इसलिए इन प्रॉडक्ट के भरोसे नहीं रह सकते।

अगर इसकी जगह हम सप्लिमेंट किसी समान्य कंपनी के खरीदे या खुद ही हमेशा हेल्थी खाना जरूरत अनुसार खाये, तो वो उपभोक्ता को ज्यादा सस्ता और अच्छा पड़ सकता है।

 

हर्बल लाइफ से जुड़ने के फायदे

हर्बल लाइफ के प्रॉडक्ट आधारित और पुरानी कंपनी है, जिसपर भरोसा कर सकते है।

हर्बल लाइफ MCA में रजिस्टर है और लीगल डायरेक्ट सेलिंग कंपनी लिस्ट में भी मौजूद है, जो डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन का पालन करती है।इसके उत्पाद कारगर है और ज्यादा रीटेल कमीशन एसोसीएट  को देते है।एसोसिट के लिए 1 साल और उपभोक्ता के लिए 1 महीने की पैक प्रॉडक्ट रिफ़ंड पॉलिसी।

 

हर्बल लाइफ में कमियाँ

अन्य MLM कंपनी की तुलना में महंगे प्रॉडक्ट।

प्रॉडक्ट के साइड एफ़ेक्ट्स और नकारात्मक फीडबैक।

समझने में मुश्किल इनकम प्लान।

औसतन 0.04% सफलता दर, क्योंकि यह भी एक MLM कंपनी ही है।

हर्बल लाइफ  ने खुद एक बयान जारी किया था, जिसमें बताया कि

50% हर्बल लाइफ के एसोसिएट कुछ नही कमाते है। बाकी के 50% औसतन $140 से $315 हर महीने कमाते है। यह डाटा सिर्फ अमेरिका के लिए है, जहाँ लोग फूल-टाइम कोई भी काम करके $14,000 कम से कम सालाना कमा सकते है। जबकि हर्बल लाइफ औसतन $2700 ही सालाना देती है। अत्यंत महंगे प्रॉडक्ट होने के कारण यह आंकड़ा भारत में और भी कम है।

Leave a Comment