ड्राई फ्रूट बेचने का व्यापार कैसे शुरू करें? How to start Dry Fruit Business in Hindi

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

आजकल मिठाइयों में लोग मिलावट करने लगे हैं इन  बातों को ध्यान में रखते हुए आजकल त्यौहार हो या कोई शादी लोग ड्राई फ्रूट्स मिठाई की जगह अपने रिश्तेदारों और मेहमानों को देने लग गए हैं.ड्राई फ्रूटस् खासकर बच्चों के लिए कोई भी पैरेंट्स जरूर देंगे जो की उसके लिए विकास एवं उसके मस्तिष्क की मजबूती और अच्छी बनी रहे  और सभी लोगोँ के बेहद जरूरी है उनकी अच्छी सेहत के लिये। ड्राई फ्रूटस् कई प्रकार के मीठे पकवान में बहुत जरूरी होती है और इसका बहुत ही टेस्टी लड्डू  बनाए जाते हैं ऐसे में ड्राई फ्रूट्स का व्यवसाय काफी अच्छे चरण पर दिख रहा है।

ड्राई फ्रूट्स के जिन्हें सूखे मेवे के नाम से भी जाना जाता है। आपके आसपास ड्राई फ्रूट की थोक बाजार मार्केट जरूर होगी, आप जहां से खरीद कर आप ड्राई फ्रूट्स का रिटेलर बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं। अब के समय में लोग ब्रांड को देखकर ही हर चीज खरीदते हैं तो ऐसे में आप किसी एक बढ़िया ब्रांड के ड्राई फ्रूटस् को भी खरीद कर उसका बिजनेस प्रारंभ कर सकते हैं।

 

ड्राई फ्रूट्स बिजनेस के लिए मार्केट रिसर्च

आपको इस बिजनेस को शुरू करने से पहले ये जानना बेहद जरूरी है की ड्राई फ्रूट की कौन सी किस्म बाजार में ज्यादा खरीदी जाती है और  वह आपको अपने बाजार में जाकर जानकारी जरूर प्राप्त करनी चाहिए, तब जाके  आप अपने आसपास के बाजार को समझकर जहां आप अपना व्यापार शुरू करना चाहते हैं वहां के माहौल के अनुसार आप भी एक बेहतर व्यवसाय प्रारंभ कर सकें, मार्केट का जायजा लेने के बाद ही आप अपने बिजनेस की शुरुआत  करें ताकि वह बड़ी ही आसानी से उसमें सफल हो पाए ।

 

कुछ जरूरी चीजें

  1. लोकेशन का चुनाव
  2. व्यवसाय चलाने के लिए एक दुकान
  3. लाइसेंस एवं पंजीकरण
  4. बाजार से माल खरीदें
  5. माल रखने के लिए गोदाम

 

 

ड्राई फ्रूट्स का माल कहां से खरीदें

अगर  आप सस्ते से सस्ता ड्राई फ्रूट खरीदना चाहते हैं तो आप होलसेल की दुकान पर जा सकते हैं भारत की सबसे बड़ी होलसेल की दुकान आपको दिल्ली के बाज़ार बावली मार्केट नियर चांदनी चौक लाल किले के पास मिल जाएगी। ये होलसेल आपको अपने नजदीकी बड़े शहरों मे भी मिल जाएगी लेकिन आपको पहले पता करना होगा या नहीं तभी आपको को ये व्यवस्था मिल पाएगी, और यहां से ड्राई फ्रूट होलसेल में खरीदने के बाद आप इजीली अच्छी कीमत पर मार्जन प्राप्त कर सकते हैं, ये दिल्ली के बाजार में आपको अच्छी से अच्छी क्वालिटी के ड्राई फ्रूट आसानी से कम मूल्य पर मिल जाते हैं।

 

ड्राई फ्रूट्स बिज़नेस लोकेशन

यदि  लोगों का आना जाना बहुत ज्यादा हो और तो आपको  आपकी दुकान बाजार के बीचो-बीच होनी चाहिए और लोग आसानी से आपका माल खरीद पाए।

आपको ऐसी भीड़ भाड़ वाली जगह का चुनाव करें जहां पर लगभग ज्यादा-से-ज्यादा लोगों को सामान खरीदने के लिए आना ही पड़ता हो। अब आप इसके लिए अपने किसी छोटे या बड़े बाजार के बीच स्थान का चुनाव कर सकते हैं।

मार्केट के बीच में ये बिज़नेस करने के लिए बहुत ही सही जगह होता है और यह ड्राई फ्रूट की पैकेजिंग बिजनेस के लिए यह जगह बहुत ही सही होगा, और आपको ऐसी जगह पर दुकान खोलना है जहां पर लोगोँ को आसानी से दिख सके और आपकी दुकान के बारे में जान पाए।

 

ड्राई फ्रूट्स बिजनेस के लिए लाइसेंस एवं पंजीकरण

आप  यदि  छोटे स्तर पर अपना बिज़नेस शुरू करते हैं तो आपको स्थानीय प्राधिकरण से लाइसेंस का पंजीकरण की जरूरत नहीं होती है. अगर आपके बिज़नेस  सालाना टर्नओवर 10 लाख अथवा 20 लाख से ज्यादा करता है तो आपको अपने बिजनेस को जीएसटी के अंतर्गत रजिस्टर कराना होगा उसके  लिए आप को  ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरना होगा .ये  जीएसटी पंजीकरण प्रक्रिया हर  राज्यों में अलग अलग  होती है।

 

ड्राई फ्रूट्स बिजनेस के लिए स्टाफ

अगर आप इस बिजनेस को कोई छोटे स्तर से प्रारंभ कर रहे हैं, तो कोई भी स्टाफ की जरूरत नहीं होगी। चाहे तो आपका परिवार मिलकर इस बिजनेस की पैकेजिंग कर सकता है और ज्यादा योग्यता चाहिए भी नहीं होता है, अगर आप इस व्यापार को एक बड़े स्तर से प्रारंभ करना चाहते हैं, तब ऐसे में आपको ज्यादा से ज्यादा ड्राई फ्रूट की पैकेजिंग कम समय में करनी होगी और फिर आपको स्टाफ मेंबर की जरूरत पड़ सकती है ।

यदि आप अपने बिजनेस को बड़े पैमाने पर प्रारंभ  करना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि आपके पास स्टाफ होना चाहिए जो आपके इस बिज़नेस में आपकी मदद कर सकें।

 

ड्राई फ्रूट्स की पैकेजिंग

आप वजन के हिसाब से ड्राई फ्रूट की पैकेजिंग करना चाहते हैं, तो आपको अलग-अलग प्रकार के और अलग-अलग वजन के आकार के डिब्बों की जरूरत होगी और आप आसानी से अपने नजदीकी मार्केट से या फिर किसी भी प्रिंटिंग प्रेस से बनवा सकते हैं। ध्यान रहे आप जो भी पैकेजिंग का डब्बा बनवाया है उसमें अपनी ब्रांडिंग भी और अपना पता भी अवश्य प्रिंट करवाएं।

आपको अच्छे से ध्यान से पैकेजिंग करनी होगी ताकि  हवा अंदर ना जाने पाए , हवा इसके अंदर गयी  तो नमी के कारण खराब भी हो सकता है , आप चाहें तो इसे और अट्रैक्टिव बनाने के लिए अपना कोई क्रिएटिव दिमाग इस्तेमाल कर सकते हैं और इसकी अट्रैक्टिव पैकेजिंग भी कर सकते हैं।

चाहें तो आप अपनी दुकान पर खुले ड्राई फ्रूट्स भी बेच सकते हैं या ढाई सौ ग्राम अथवा आधा किलो या फिर उससे अधिक वजन के छोटे-छोटे पाके बनाकर किसी बड़े  ब्रांड की मदद को लेकर अपना माल बाजार में ला सकते हैं।

 

ड्राई फ्रूट के बिजनेस में लागत

इस बिज़नेस को अगर आप छोटे स्तर से शुरू करना चाहते हैं तो ₹50000 से  ₹100000 के कम खर्च  में शुरू कर सकते हैं। इसमें आपको थोड़ी सी खर्च आपका  पैकेजिंग पर  एक्स्ट्रा हो सकता है। और जहां पर आप दुकान लेंगे उस दुकान को सजाने से लेकर दुकान में माल भरने तक के सारे काम को करने में आपको लगभग  ₹100000 के ऊपर तक का खर्च करना होगा।

अगर आप वही ड्राई फ्रूट के पैकेजिंग का व्यापार एक बड़े स्तर से प्रारंभ करना चाहते हैं तो कम से कम आपको इस व्यापार को अच्छी तरीके से प्रारंभ करने के लिए जो भी काम किए जाते हैं उनमें ₹500000 से लेकर ₹700000 के बीच तक का निवेश करना पड़ सकता है। इन दोनों ही परिस्थितियों में आपको ड्राई फ्रूट के खरीदने से लेकर उसे बेचने तक के सारे काम का निवेश करना होगा।

 

ड्राई फ्रूट बिजनेस में लाभ

इस बिज़नेस में  100 रुपये की कीमत की बिक्री पर आप आसानी से 15 से 20 रुपये का प्रॉफ़िट  कमा सकते हैं.इस तरीके से देखा जाए तो आप एक महीने में लगभग 30 से 40 हजार रुपए की कमाई कर पाएंगे। आप चाहते है  कम खर्च मे ज्यादा मुनाफा कमाना तो ये बिजनेस आपको करना चाहिए ।

 

ड्राई फ्रूट्स बिजनेस की मार्केटिंग

आप अपने बिज़नेस को बाजार में जल्द ही फैला सकते हैं उसके लिए आपको कुछ पोस्टर बनवा कर अपने आसपास लगवाए या हो सके तो पंपलेट बनवा कर लोगों के बीच बटवा दे , जिनसे  लोगों में आप की दुकान के बारे में पता लगेगा।

अपना बिजनेस ऑनलाइन  बढ़ाने के लिए भी कई प्रकार के कदम उठा सकते हैं, जैसे ऑनलाइन अपने व्यवसाय को साझा करके लोगों के बीच पहुंचाना जिससे आप ऑनलाइन प्लेटफार्म Facebook Instagram या कोई online website के जरिए भी अपना माल आसानी से भेज सकें।

 

ड्राई फ्रूट बिजनेस में हानि

इस व्यवसाय में वैसे तो कोई रिस्क नहीं है परंतु कभी-कभी मौसम खराब होने की वजह से ड्राई फ्रूट्स में कीड़े पड़ने की संभावना रहती है जिसका ख्याल समय-समय पर उद्यमी को रखना चाहिए। कुछ एंटीबायोटिक्स का कमाल करके वह अपने माल को सुरक्षित रख सकते हैं।

Leave a Comment