दूध डेयरी फार्म का व्यापार कैसे शुरू करें? | Milk Dairy Business Plan in Hindi

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

हमारा देश भारत सदियों से दूध दही का धनी रहा है, क्योंकि हमारी संस्कृति में पशुपालन का अपना एक विशेष महत्व रहा है। भारत में दूध की हमेशा से बहुत डिमांड रहती है। चाहे गरीब हो या अमीर सभी परिवार में कम ज्यादा दूध का इस्तेमाल किया ही जाता है। दूध की डिमांड को देखते हुए सरकार गांव-गांव में दूध डेयरी खोलने के लिए लोगों को प्रोत्साहित भी कर रही है और इसके लिए उन्हें लोन तथा सब्सीडी देकर मदद करती है। आगे बढ़ने से पहले आपका यह जानना जरूरी है कि दूध डेयरी चार प्रकार से खोले जा सकते है। आइए देखते है वे कौन-कौन से है, और उनके लिए सरकार कितनी मदद करती है। आप अपने हिसाब से उन चारों में से किसी भी एक को अपनाकर दूध डेयरी व्यापार को शुरू कर सकते हैं।

  1. लघु दूध डेयरी

इस प्रकार की दूध डेयरी के लिए दो अच्छे और उन्नत किस्म की गायों को रखकर आप अपने व्यवसाय को आसनी से शुरू कर सकते हैं। इसे शुरू करने के लिए लगभग एक लाख रूपए की आवश्यकता पड़ेगी। इसमें 65 प्रतिशत बैंक की तरफ से और 25 प्रतिशत गांव विकास निदेशायल की तरफ से लोन के तौर पर दिए जाते है। अपने पास से सिर्फ 10 प्रतिशत लगाना पड़ेगा। इसमें पशुओं का चारा, इंश्योरेंस, बैंक लोन आदि चुकाने के बाद आपको सालाना 40,000 की बचत हो सकती है। 

  1. मिनी दूध डेयरी फार्म

मिनी दूध डेयरी फार्म में आप बेहतर उन्नत किस्म के पांच गायों को रखकर व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं। इसे शुरू करने के लिए करीब 2.5 लाख रूपए की आवश्यकता होती है। इसमें भी उसी तरह से 65 प्रतिशत बैंक देगी और 25 प्रतिशत गाव विकास निर्देशालय द्वारा लोन के तौर पर दिए जायेंगे। शेष 10 प्रतिशत अपने पास से लगाना होता है। मिनी दूध डेयरी फार्म में सालाना 90,000 तक की बचत होती है।

  1. मिडी दूध डेयरी फार्म

इस प्रकार के दूध डेयरी फार्म में अच्छे और उन्नत किस्म के 10 गायों को रखकर शुरू किया जाता है। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए साढ़े पांच लाख रूपए तक का खर्चा आता है। इसे भी शुरू करने के लिए बैंक द्वारा 65 प्रतिशत और गांव विकास निर्देशालय द्वारा 25 प्रतिशत लोन दिया जाता है। तथा 10 प्रतिशत खुदके पैसे लगाने होते हैं। इसमें सालाना सवा लाख रूपए तक की बचत हो सकती है।

  1. व्यावसायिक दूध डेयरी फार्म

इस तरह के डेयरी फार्म बड़े स्तर पर होते हैं। इसे शुरू करने के लिए आपके पास पर्याप्त स्थान और पैसा होना आवश्यक है। इस डयेरी फार्म को खोलने के लिए 20 अच्छे और उन्नत किस्म की गायों की आवश्यकता होती है। जिसका खर्चा लगभग 15 लाख रूपए तक आ जायेगा। इस प्रकार के दूध डेयरी फार्म के लिए बैंक आपको 75 प्रतिशत तक लोन देती है, और 15 प्रतिशत तक आप विभागीय अनुदान के रूप में प्राप्त कर सकते हैं। शेष 10 प्रतिशत यानी 1.5 लाख रूपए आपको अपने पास से लगाने पड़ते हैं। इस तरह के दूध डेयरी फार्म में इंनकम भी कई गुणा बढ़ जाती है।

 

डेयरी फार्म का व्यवसाय की शुरूआत करने से पहले आइए देखते है की, दूध डेयरी फार्म शुरू करने के लिए क्या आप सक्षम हैं?

इन चारों तरह के दूध डेयरी बिजनेस में से आप अपनी क्षमता और हैसियत के अनुसार किसी को भी शुरू कर सकते है। इसके लिए किसी विशेष डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। यदि आपको दूध डेयरी के बारे में जानकारी है तो अच्छी बात है। यदि नहीं है तो कोई बात नहीं है। दूध डयेरी शुरू करने से पहले आप नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्ट्रीट्युट में कुछ दिन जा कर के  प्रशिक्षण ले सकते हैं, या आसपास के किसी दूध डेयरी फार्म में रहकर दो से तीन माह रह कर देख कर भी सीख सकते हैं।

आपको दूध डेयरी बिजनेस को शुरू करने से पहले अपने आप से कुछ सवाल करके खुद से संतुष्ट होना आवश्यक है। यदि उन सवालों के उत्तर हां में है तो ही आप इस व्यवसाय को प्रारंभ करें । अन्यथा ना करें। क्योंकि यह कार्य काफी अधिक मेहनत और पेशेंस भरा है।

आप अपने आप से सर्वप्रथम यह सवाल पूछे की – क्या आप पशुओं को प्रेम दे सकते है? क्योंकि पशुओं की देखभाल करना, उन्हें समय पर स्नान कराना, चारा देना, समय-समय पर उनके स्वास्थ्य परीक्षण करवाना। यह मानिए कि दूध डेयरी में रहने वाले पशु आपके परिवार के सदस्य है। जिस तरह से आप अपने परिवार के लिए प्रेम भाव रखते है आपको उनके साथ भी वही भाव रखना होगा, तभी आप दूध डेयरी व्यवसाय में सफल हो पायेंगे

अब खुदसे दूसरा सवाल यह पूछे की – क्या आप कर्मचारियों के अनुपस्थिति में जरूरत पड़ने पर गोबर उठाना, साफ-सफाई करना, गायों को नहलाना इत्यादि कर सकते हैं? यदि आप दो-चार गायों से इस बिजनेस को शुरू कर रहे हैं तो यह सारे काम आपको स्वयं ही करने पड़ेगे, तभी आपको इससे कमाई होगी।

यदि आप बड़े स्तर पर डेयरी फार्म शुरू करना चाहते है और सारे कार्य कर्मचारियों से करवाना चाहते हैं। फिर भी आपको ये सारे काम आने चाहिए। क्योंकि कभी-कबार कर्मचारियों की अनुउपस्थिति में हो सकता है डेयरी से संबंधित काम आपको स्वयं ही करने पड़ सकते हैं।

अपने आपसे से आपका तीसरा सवाल यह होना चाहिए की – क्या आपके पास पर्याप्त स्थान है जहां आप अपने पशुओं को सुरक्षित रख सकें? उनके लिए चारा जैसे भूसा और अन्य खाद्य पदार्थ आदि को सही तरीके से भण्डारण कर सकें । भविष्य में आपको गायों की संख्या बढ़ाने तथा भंडारण के लिएअधिक जगह की आवश्यकता हो सकती है।

इसके अलावा आपको पर्याप्त खुली जगह की जरूरत होती है जहां पशु अपने हिसाब से विचरण कर सकें। यदि आप 24 घंटे ही पशुओं को बांध कर एक जगह पर रखेंगे तो इससे उनके सेहत पर बूरा प्रभाव होता है, जिससे उनका स्वास्थ्य तो गिरेगा ही साथ ही साथ उनके दूध की मात्रा भी कम होगी।

प्रश्नो के सिलसिले में आप अपने आप से चौथा swal पूछ सकते हैं – क्या आप 24 घंटे दूध डेयरी में दे सकते हैं? वैसे तो दूध डेयरी सुबह-शाम का काम है यदि आप अपने इस बिजनेस को और बढ़ाना चाहते है तो 24 घंटे आपको इसमें समय देना होगा। यदि आप किसी दूसरे कार्य से जुड़े हुए है या कोई नौकरी करते है और अलग व्यवसाय के तौर पर दूध डेयरी व्यवसाय को शुरू करना चाहते है तो आपको पशुओं पर ध्यान देने के लिए समय अवश्य ही निकालना होगा। केवल चरवाहों के भरोसे ना रहे। इससे उतना लाभ नहीं मिल पाएगा।

आखरी प्रश्न जो सबसे जरूरी है वो यह है की – क्या आपके पास दूध डेयरी शुरू करने के लिए पर्याप्त रकम है? क्योंकि सरकार दूध डेयरी शुरू करने के लिए सिर्फ उन्ही लोगों की मदद करती है जो शुरूआत दौर में अपने पास से 10 प्रतिशत रकम लगाते हैं।

दोस्तों यदि आप खुद से संतुष्ट हो चुके हैं, तो बेस्ट ऑफ़ लक आप दूध डेयरी बिजनेस को शुरू करके अच्छी कमाई कर सकते हैं।

डेयरी फार्मिंग को शुरू करने के लिए नाबार्ड द्वारा भी सहायता की जा रही है। दोस्तों, डेयरी का बिजनेस काफी फायदेमंद बिजनेस है। इसके द्वारा सिर्फ दूध बेचकर ही लाभ नहीं कमाया जा सकता है बल्कि गाय के गोबर से कंडे और घरेलू खाद तैयार करके इसे बेच कर भी पैसा कमाया जा सकता है। इसके अलावा गोबर से बाॅयोगैस भी तैयार कर बेच या इस्तमाल कर सकते हैं। इसके साथ ही साथ आप गोमूत्र संग्रह करके उसे दवा कंपनियों को या खुदसे ही ऑनलाइन सेल कर सकते हैं।

Leave a Comment