प्राइमरी स्कूल के टीचर कैसे बने | Primary Teacher Kaise Bane

मेरा नाम रक्षा कुमारी है, मेरा जन्म बिहार के अरवल जिले में हुआ है। मेरी रुचि शुरुआत से ही हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में रही है।

यदि आप प्राइमरी स्कूल के टीचर बनना चाहते है, तो आपके अंदर कुछ अच्छाइयां होना बहुत ही जरूरी होता है, क्योंकि प्राइमरी स्कूल के टीचरों के छोटे-छोटे बच्चों को पढ़ाना होता है, इसके लिए उनके अंदर रचनात्मकता, विवेक, विनम्र वाणी, दया, विश्वनीयता, विनम्रता, नेतृत्वता, कुछ नया सिखने की आदत, ज्यादा से ज्यादा सिखाने की आदत आदि चीजे एक प्राइमरी टीचर के अंदर होनी अति आवश्यक हो जाती है | इसके अलावा एक प्राइमरी टीचर बनने के लिए आपके पास कुछ योग्यता होनी भी बहुत ही जरूरी होती है | इसके बाद ही कोई भी व्यक्ति प्राइमरी टीचर बनकर 1 से 5 कक्षा तक, TGT 6 से 10 कक्षा और PGT 11 से 12 कक्षा तक पढ़ा सकता है |

 

प्राइमरी स्कूल के टीचर कैसे बने | Primary Teacher Kaise Bane

 

प्राइमरी स्कूल के टीचर के लिए योग्यता

  1. 12th पास करें

सबसे पहले शिक्षक बनने के लिए अभ्यर्थी को 12th में सफलता प्राप्त करना बहुत ही आवश्यक है।  टीचर बनने के लिए अभ्यर्थी आर्ट्स ,कॉमर्स या साइंस किसी भी विषय से 12वीं पास कर सकता है |

  1. ग्रेजुएशन कम्पलीट होनी चाहिए

12 वीं पास करने के बाद आपके पास ग्रेजुएशन कंप्लीट करके उसका सर्टीफिकेट प्राप्त करे, जो 3 साल का होता है। अगर आपने 12वीं पास आर्ट्स के साथ की है, तो आप 12वीं के बाद BA करके ग्रेजुएशन पूर्ण कर सकते है और यदि आपने 12वीं पास कॉमर्स के साथ की है, तो आप बी.कॉम, बीबीए जैसे  कोर्स करके ग्रेजुएशन कर सकते है। यदि आपने 12 वीं साइंस स्ट्रीम के साथ पास की है तो आप बीएससी जैसे कोर्स के साथ अपना ग्रेजुएशन पूर्ण कर सकते है।

  1. बीएड कम्पलीट करें (B.ed)

ग्रेजुएशन पूर्ण करने के बाद आपको बीएड की डिग्री प्राप्त करना होता है । बीएड का कोर्स 2 साल का होता है। सरकारी शिक्षक बनने के लिए बीएड करना बहुत ही आवश्यक माना जाता है |

  1. TET एग्जाम क्लियर करें

सरकारी प्राइमरी स्कूल टीचर बनने के लिए आपको बीएड के बाद टेट के एग्जाम में सफलता प्राप्त करना अनिवार्य होता है क्योंकि tet एग्जाम क्लियर किये बिना आप प्राइमरी शिक्षक नहीं बन सकते है और यदि आपको प्राइवेट शिक्षक बनना है तो बिना tet के भी प्राइमरी स्कूलों में अप्लाई कर सकते है।  यह सब प्रक्रिया पूर्ण कर लेने के बाद जब भी शिक्षक के लिए सरकारी भर्ती के लिए आवेदन जारी किये जाए, तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते है। जब तक सरकारी शिक्षक की भर्ती नहीं पड़ती है तो आप किसी प्राइवेट स्कूल में भी पढ़ाने के लिए आवेदन कर सकते है।

 

प्राइमरी स्कूल टीचर बनने के क्या फायदे है?

प्राइमरी शिक्षक को छोटे -छोटे बच्चो को पढ़ाने का अवसर प्राप्त आता है, जिससे आप अपने मुताबिक़ छोटे से ही बच्चों को अच्छे संस्कार प्रदान कर सके ।

दूसरी नौकरी की सापेक्ष में शिक्षक को अधिक छुट्टिया भी मिलती है। शिक्षक को बहुत ही अच्छा वेतन भी प्रदान किया जाता है । शिक्षक को पढ़ाने का समय निश्चित होता है। उसके बाद अधिक कार्य करने की आवश्यकता भी नहीं रहती है। अन्य सरकारी नौकरी की अपेक्षा प्राइमरी टीचर की जॉब बेहद ही कंफर्टेबल है क्योंकि यह बिलकुल भी बोझिल नहीं होता है |

 

प्राइमरी टीचर की सैलरी कितनी होती है ? (Primary Teacher Salary)

Primary School या सरकारी टीचर का वेतन 7वे वेतन आयोग (7th Pay Commission) के अनुसार कम से कम तालिका द्वारा स्पष्ट किया गया है | इसके अलावा, प्राइमरी टीचर को अतिरिक्त कार्य जैसे पोलियो ड्राप, मतगणना आदि सरकारी कार्यों के लिए अलग से पारिश्रमिक दिया जाता है और उत्कृष्ट कार्य के लिए सरकार द्वारा सम्मानित भी किया जाता है |

Pay Scale       Rs. 9300 to 35400

Grade Pay      Rs 4200

Pay Scale (as per 7th pay commission)     Rs. 9300-34800 with Grade Pay of Rs. 4200/-

House Rent Allowances (HRA)       Rs 3240

Dearness Allowances (DA)    12% of basic pay

Total Salary (approx)            Rs.37000 (approx.)

Pay Scale       Rs. 9300 to 35400

Grade Pay      Rs 4200

Leave a Comment