सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान | social media ke fayde aur nuksan

आज कोई भी social media से अनजान नहीं है जबसे 4g आया है सभी किसी न किसी तरह सोशल मीडिया से जुड़े हैं। जैसे कोई भी इंसान या कोई भी सामान सिर्फ अच्छा या सिर्फ बुरा नहीं होता लेकिन अच्छा बुरा दोनो होता है, किसी भी काम के सिर्फ फायदे या सिर्फ नुकसान नहीं होते लेकिन लाभ-हानि दोनो होते हैं वैसे ही social media के भी दो पहलू हैं फायदे और नुकसान..

 

सोशल मीडिया के फायदे

  1. आज जब विश्व में महामारी फैली हुई थी, लॉकडाउन था तो सोशल मीडिया के माध्यम से ही हमने ऑनलाइन पढ़ाई की और ये सोशल मीडिया का अबतक का सबसे बड़ी उपलब्धि रही है।
  2. हम सोशल मीडिया के माध्यम से अपने विचारो को दूसरो तक पहुंचा सकते हैं, और दूसरों के विचारो को जान सकते हैं।
  3. सोशल मीडिया के माध्यम से हम नए दोस्त बना सकते हैं, उनसे नई-नई चीजे सिख सकते हैं उन्हें अपनी संस्कृति से अपने विचारो से अवगत करा सकते हैं।
  4. हम अपने दूर रहने वाले रिश्तेदारों से दोस्तो से जुड़े रह सकते हैं उनसे कॉल, वीडियो कॉल, चैटिंग कर के एक दूसरे के करीब रह सकते हैं।
  5. हम सोशल मीडिया का उपयोग अपने बिजनेस के विज्ञापन के लिए भी कर सकते हैं, और अपने बिजनेस को बड़ा कर सकते हैं।
  6. रातों रात फेमस हो जाना आए दिन ऐसी खबरे हम सुनते रहते हैं, जोमेटो बॉय , पैराग्लाइडिंग बॉय, सहदेव, रानू मंडल, बाबा का ढाबा जैसे लोग सोशल मीडिया का उपयोग फेमस होने के लिए भी करते रहते हैं और कई लोग रातोरात स्टार भी बन जाते हैं।
  7. आज काम के लिए घर से भी आवेदन किया जा सकता है डॉक्यूमेंट्स शेयर किए जा सकते हैं , रोजगार पाया जा सकता है बल्कि वर्क फ्रॉम होम कर के पैसे भी कमाए जा सकते हैं।
  8. जिन्हे नए दोस्त बनाना और उनसे बातें करना , कोई ग्रुप बनाना पसंद हो वो लोग सोशल मीडिया के माध्यम से आसानी से लोगों को संगठित कर सकते हैं, अपने विचार और संस्कृति का प्रचार कर सकते हैं।
  9. आज हम सोशल मीडिया के माध्यम से किसी की मदद कर सकते हैं, अगर तनाव में हैं तो मनोरंजन कर सकते हैं, अपनी भावनाओं को किसी परिचित या अपरिचित व्यक्ति से साझा कर सकते हैं।
  10. सोशल मीडिया के माध्यम से हम जागरूकता ला सकते हैं, सोशल मीडिया एक वर्चुअल दुनिया है जहां आसानी से हम किसी भी मुद्दे पर आवाज उठा सकते हैं, जानकारी प्राप्त भी कर सकते हैं और जानकारी दे भी सकते हैं।
  11. जो लोग सेलिब्रिटी है वो लोग अपने प्रशंसक से जुड़ सकते हैं, उन्हें अपने बारे में जानकारी दे सकते है।

 

सोशल मीडिया के नुकसान

  1. जब हम नए लोगो से मिलते हैं उनकी मंशा को समझ नहीं पाते तब धोखाधड़ी की संभावना बढ़ जाती हैं, सोशल मीडिया के माध्यम से जब हम किसी से भावात्मक रूप से जुड़ते हैं बोहोत जल्दी, बोहोत ज्यादा विश्वाश करते हैं, और धोखाधड़ी हो जाती है तब इसका असर हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा पड़ता हैं, कई बार तो लोग आत्महत्या भी कर लेते हैं।
  2. आज के समय में हैकिंग के भी मामले बोहोत देखने को मिलते हैं, ऐसे में प्राइवेसी का खतरा रहता हैं, जहा युवाओं की बेरोजगारी की संख्या ज्यादा है वही सोशल मीडिया पर कई भ्रामक प्रलोभन भी दिए जाते हैं, रोजगार देते के झांसे में फसा कर व्यक्ति से पैसे ऐंठे जा सकते हैं, प्राइवेट डेटा मांग कर गलत इस्तेमाल किया जा सकता, आज के समय में प्राइवेसी का खतरा सोशल मीडिया की वजह से बोहोत बढ़ गया है।
  3. सस्ते इंटरनेट की वजह से हर कोई किसी न किसी सोशल मीडिया एप्लीकेशन से जुड़ा है, और मोबाइल फोन की लत लग गई है। अब कोई भी व्यक्ति एक बार फोन उठाता है तो 2 से 3 घंटे का समय फोन में बर्बाद करता है, मोबाइल की लत से युवा अपना समय बर्बाद कर रहे हैं।
  4. हर एप्लीकेशन के टर्म्स एंड कंडीशन होते हैं, जिसे पढ़े बिना ही हम अग्री कर देते हैं, जिससे डेटा लीकिंग का खतरा बढ़ जाता हैं, हमारी सरकारी आइडेंटिटी लीक हो सकती हैं।
  5. आज लोगो के पास हजारों फॉलोअर्स है लेकिन रियल लाइफ में दोस्त न के बराबर होते हैं, इंसान अपने ही घर में रह कर अपने ही परिवार से दूर रहता हैं, क्योंकि उसे आभासी पटल पर सबसे बेहतर दिखना है उसका सारा ध्यान फोन में रहता हैं, और ऐसे में एक समय ऐसा भी आता है की जरूरत के समय कोई भी साथ नहीं होता, सोशल मीडिया इंसान को अकेला कर देता है।
  6. सोशल मीडिया इस्तेमाल करते समय मनोरंजक लगता हैं, मगर यह धीरे-धीरे हमारे समय को छिनता है हमारी उम्र को कम करता है ये हमारे स्वास्थ्य को खराब करता है, टीनएजर्स पोर्न जैसी खराब लत, ड्रग्स जैसे नशे की ओर अग्रसर होने लगते हैं ऐसे में सोशल मीडिया हमारे स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित करता है।
  7. आजकल बच्चो की पढ़ाई भी मोबाइल में ही होने लगी है ये फायदा तो है ही लेकिन उससे ज्यादा नुकसानदायक है, फोन में कई सोशल मीडिया ऐप डाउनलोड होते हैं, जिसके नोटिफिकेशन आते ही रहते हैं, ऐसे बच्चो का ध्यान पढ़ाई से हट जाता हैं, एकाग्रता नही रहती।
  8. आय दिन ऐसी खबरें देखने को मिलती रहती हैं, कि सेल्फी लेते समय या रील बनाते समय युवक/युवती की जान गई, आज की युवा आभासी पटल पर चल रहे ट्रेंड में खुदको सबसे बेहतर दिखाना चाहता है, और ऐसे में कईयों की जान चली जाती हैं।

 

फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्वीटर, टिकटोक, मोज, स्नैक जैसे एप्लीकेशन पर रील्स का चलन है इसमें मेसेजिंग, कॉलिंग, वीडियो कॉलिंग के भी फीचर्स शामिल होते हैं। ऐसे एप्लिकेशंस मनोरंजक है तनाव से राहत देने में काम करते हैं लेकिन कहा जाता हैं कि अति सर्वत्रे वर्ज्यते यानी की हद से ज्यादा कुछ भी इस्तेमाल करना अच्छा नहीं होता, हद से ज्यादा इस्तेमाल करने पर इसके दुष्प्रभाव बोहोत ज्यादा देखने को मिलते हैं।

अब हमें ये तय करना हैं की हम सोशल मीडिया का सदुपयोग करें या दुरुपयोग करें, हमें सोशल मीडिया चलाना है या सोशल मीडिया के हिसाब से चलना है।

-: By Raksha

Leave a Comment